वाराणसी स्थित ज्ञानवापी मस्जिद के मामले में जिला कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। मुस्लिम पक्ष को उस समय तगड़ा झटका लगा जब जिला जज रवि कुमार दिवाकर ने कहा कि कोर्ट कमिश्नर को नहीं हटाया जाएगा। कोर्ट ने 17 मई को सर्वे रिपोर्ट पेश करने को कहा है। इसका मतलब ये है कि यहां एक बार फिर सर्वे होगा। रिकॉर्डिंग भी होगी। फैसले का एक अहम पक्ष ये भी रहा कि जज ने कोर्ट कमिश्नर के साथ एक वकील और लगाया है। ये विशाल कुमार सिंह हैं। यानी अब 2 कोर्ट कमिश्नर होंगे।
जिला जज रवि कुमार दिवाकर ने स्पष्ट फैसला सुनाया है। उन्होंने साफ कहा कि पूरी ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे और वीडियो ग्राफी कराई जाए। जज ने कहा, ताले तोड़ने पड़े तो तोड़िए, जो बाधा आ रही हो, उसे हटाइये। अब रोज सुबह 8 बजे से सर्वे होगा और 12 बजे तक चलेगा। यह काम रोज किया जाएगा। अब चबूतरे के आगे भी वीडियो कैमरा जा सकेगा। अदालत ने पुलिस-प्रशासन को आदेश दिया है कि सर्वे टीम को उसका काम करने में मदद की जाए। जो बाधा पहुंचाए, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
सुनवाई से पहले सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई थी। सुरक्षा के चलते कोर्ट परिसर खाली करवा लिया गया था। इससे पहले बुधवार को कोर्ट ने सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *