आसानी से नहीं मानेगा ‘असानी’
चक्रवाती तूफान ‘असानी’ ने दिखाने शुरू किए अपने तेवर
मौसम वैज्ञानिकों ने जारी किए अलर्ट

चक्रवाती तूफान असानी ने अपना असर दिखाना शुरू कर चुका है। देश के कई राज्यों में मौसम तेजी से बदल रहा है। मौसम विभाग की ओर से जारी अलर्ट के मुताबिक, 24 घंटे बाद चक्रवाती तूफान असानी बंगाल की खाड़ी के ऊपर पहुंच जाएगा। इस दौरान कई राज्यों में 45 से 75 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने की आशंका है। वहीं तूफान के कारण कई जगहों पर भारी बारिश की भी संभावना बन रही है।

भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक, दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर कम दबाव वाला क्षेत्र बना हुआ है, जो अगले 24 घंटों में चक्रवाती तूफान में बदलकर भारती के पूर्वी तट की ओर बढ़ सकता है। आईएमडी के अधिकारियों ने कहा कि कम दबाव का क्षेत्र शनिवार शाम तक तेज हो जाएगा और 24 घंटे बाद बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। इसके बाद इसके उत्तरी आंध्र प्रदेश और ओडिशा के पास 10 मई तक पहुंचने की आशंका है। असानी चक्रवात विशाखापत्तनम और भुवनेश्वर के करीब 10 से 11 मई के बीच पहुंचने की संभावना है।
अगर ये चक्रवात आकार लेने में सफल होता है तो लगातार यह तीसरा साल होगा जब भारत के समुद्री इलाकों में तूफान आएगा। इससे पहले 2020 में अम्फान तूफान ने पश्चिम बंगाल और फिर 2021 में यास तूफान ने ओडिशा को प्रभावित किया था। इस बार असानी तूफान भी ओडिशा के स्थल भाग से ही टकरा सकता है। शुक्रवार को कम दबाव का क्षेत्र भारतीय समुद्र तट से 1,000 किमी से अधिक दूर था। वैज्ञानिकों का कहना है कि अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में भारी वर्षा होने की संभावना है। इस दौरान पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के आस-पास के क्षेत्रों में हवा की गति 45 से 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की संभावना है। इसके अलावा मौसम विभाग ने समुद्र के पास रहने वाले नागरिकों को भी अलर्ट किया है। वहीं मछुवारों को भी चेतावनी जारी की गई है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *